Aye Mere Watan Ke Logo Lyrics || ऐ मेरे वतन के लोगों || Hindi/English Version ||

About : Aye Mere Watan Ke Logo Song

  • Song Title : Aye Mere Watan Ke Logo
  • Singer : Lata Maneshkar, Chrous
  • Music Director : C. Ramchandra
  • Lyricist : Pradeep Kumar
  • Perform By : Lata Maneshkar
  • Music Label : Saregama 

ऐ मेरे वतन के लोगों
तुम खूब लगा लो नारा
ये शुभ दिन है हम सब का
लहरा लो तिरंगा प्यारा

पर मत भूलो सीमा पर
वीरों ने है प्राण गँवाए
कुछ याद उन्हें भी कर लो
कुछ याद उन्हें भी कर लो

जो लौट के घर ना आये
जो लौट के घर ना आये
ऐ मेरे वतन के लोगों
ज़रा आँख में भर लो पानी
जो शहीद हुए हैं उनकी
ज़रा याद करो क़ुरबानी…

ऐ मेरे वतन के लोगों
ज़रा आँख में भर लो पानी
जो शहीद हुए हैं उनकी
ज़रा याद करो क़ुरबानी
तुम भूल ना जाओ उनको
इसलिए सुनो ये कहानी
जो शहीद हुए हैं उनकी
ज़रा याद करो क़ुरबानी…..

जब घायल हुआ हिमालय
खतरे में पड़ी आज़ादी
जब तक थी साँस लड़े वो
फिर अपनी लाश बिछा दी
संगीन पे धर कर माथा
सो गये अमर बलिदानी
जो शहीद हुए हैं उनकी
ज़रा याद करो क़ुरबानी….

जब देश में थी दीवाली
वो खेल रहे थे होली
जब हम बैठे थे घरों में
वो झेल रहे थे गोली
थे धन्य जवान वो अपने
थी धन्य वो उनकी जवानी
जो शहीद हुए हैं उनकी
ज़रा याद करो क़ुरबानी….

कोई सिख कोई जाट मराठा
कोई गुरखा कोई मदरासी
सरहद पर मरनेवाला
हर वीर था भारतवासी
जो खून गिरा पर्वत पर

वो खून था हिंदुस्तानी
जो शहीद हुए हैं उनकी
ज़रा याद करो क़ुरबानी
थी खून से लथ-पथ काया
फिर भी बन्दूक उठाके
दस-दस को एक ने मारा
फिर गिर गये होश गँवा के
जब अन्त-समय आया तो
जब अन्त-समय आया तो
कह गए के अब मरते हैं
खुश रहना देश के प्यारों
खुश रहना देश के प्यारों
अब हम तो सफ़र करते हैं
अब हम तो सफ़र करते हैं
क्या लोग थे वो दीवाने
क्या लोग थे वो अभिमानी
जो शहीद हुए हैं उनकी
ज़रा याद करो क़ुरबानी

तुम भूल न जाओ उनको
इस लिये कही ये कहानी
जो शहीद हुए हैं उनकी
ज़रा याद करो क़ुरबानी
जय हिन्द जय हिन्द
जय हिन्द की सेना……..

Aye Mere Watan Ke Logo Lyrics in English – 

Aye Mere Watan Ke Logon
Tum Khub Lagaa Lo Naara
Yeh Shubh Din Hai Hum Sab Ka
Leharaa Lo Tiranga Pyaara
Par Mat Bhulo Siima Par
Veeron Ne Hai Praan Ganwaaye

Kuchh Yad Unhein Bhi Kar Lo
Kuchh Yad Unhein Bhi Kar Lo
Jo Laut Ke Ghar Na Aaye
Jo Laut Ke Ghar Na Aaye

Aye Mere Watan Ke Logon
Zara Aankh Mein Bhar Lo Paanii
Jo Shahid Huye Hain Unkii
Zara Yad Karo Qurbaani…

Jab Ghaayal Hua Himaalayaa
Khatre Mein Padi Aazadi
Jab Tak Thi Saans Ladhe Wo
Phir Apani Laash Bichha Dii
Sangin Pe Dhar Kar Maatha
So Gaye Amar Balidaani
Jo Shahid Huye Hain Unkii
Zara Yad Karo Qurbaani….

Jab Desh Mein Thi Diwaalii
Woh Khel Rahe The Holii
Jab Hum Baithe The Gharon Mein
Woh Jhel Rahe The Goli
The Dhanya Jawan Wo Apane
Thi Dhanya Wo Unki Jawani
Jo Shahid Huye Hain Unkii
Zara Yad Karo Qurbaani…

Koi Sikh Koi Jaat Maratha
Koi Gorkhaa Koi Madarasi
Sarhad Pe Marne Wala
Har Veer Thaa Bharatvasi
Jo Khoon Gira Parvat Par
Wo Khoon Thaa Hindustani
Jo Shahid Huye Hain Unkii
Zara Yad Karo Qurbani….

Thi Khoon Se Lath Path Kaaya
Phir Bhi Bandook Uthaake
Dus Dus Ko Ek Ne Maraa
Phir Gir Gaye Hosh Gawa Ke
Jab Ant Samay Aaya To
Keh Gaye Ke Ab Marte Hain
Khush Rehana Desh Ke Pyaron
Ab Hum To Safar Karte Hain
Kya Log The Wo Diwane
Kya Log The Wo Abhimani

Jo Shahid Huye Hain Unkii
Zara Yad Karo Qurbani…

Tum Bhul Na Jao Unko
Is Liye Kahi Ye Kahani
Jo Shahid Huye Hain Unkii
Zara Yad Karo Qurbani
Jay Hind…
Jay Hind Ki Sena
Jay Hind…..

close