Dil Ka Tukda Kabhi Lyrics in Hindi English || दिल का कोई टुकड़ा कभी दिल से || Aye Dil Laya Hai Bahar Sad Lyrics ||

Summary :  Dil Ka Koi Tukda यह Song Movie Kya Kehna से हैं, इस फिल्म में Priety Zinta,Saif Ali Khan, Chandrachur Singh, Anupam Kher, Farida Zalal मुख्य भूमिका में थे। इस गाने को गाया है Hariharan & Kavita Krishnamurty ने , Music दिया है Rajesh Roshan ने और गाने के बोल लिखे हैं Majrooh Sultanpuri ने।

About : Dil Ka Tukda Kabhi Song

  • Song Title : Dil Ka Koi Tukda
  • Movie : Kya Kehna(2000)
  • Singers : Hariharan & Kavita Krishnamurty
  • Music : Rajesh Roshan
  • Lyricist : Majrooh Sultanpuri
  • Starcast : Priety Zinta,Saif Ali Khan & Chandrachur Singh
  • Director : Kundan Shah

Dil Ka Koi Tukda Kabhi Song Lyrics In Hindi

dil ka koi tukda kabhi lyrics in hindi english

दिल का कोई टुकड़ा कभी
दिल से जुदा होता नहीं
अपना कोई जैसा भी हो
अपना है वो दूजा नहीं
यही वो मिलन है
जो सचमुच है
दिल का करार क्या कहना

खिले खिले चेहरों से आज घर है
मेरा गुले गुलज़ार क्या कहना

ऐ दिल लाया है बहार
अपनों का प्यार क्या कहना
मिलें हम छलक उठा
ख़ुशी का खुमार क्या कहना..

कुछ अपने ही तक यूँ नहीं
ये है सवाल सबके लिए
जीना है तो जग में जियो
बनके मिसाल सबके लिए
देखो कैसा महक रहा
प्यार भरी बाहों का हार 
क्या कहना

खिले खिले चेहरों से आज घर है
मेरा गुले गुलज़ार क्या कहना

ऐ दिल लाया है बहार
अपनों का प्यार क्या कहना
मिलें हम छलक उठा
ख़ुशी का खुमार क्या कहना..

जो हो गया सो हो गया
लोगों से तू डरना नहीं
साथी तेरे हैं और भी
दुनिया में तू तनहा नहीं
सामना करेंगे मिलके 
चाहे दस हो चाहे हज़ार 
क्या कहना

खिले खिले चेहरों से आज घर है
मेरा गुले गुलज़ार क्या कहना

ऐ दिल लाया है बहार
अपनों का प्यार क्या कहना
मिलें हम छलक उठा
ख़ुशी का खुमार क्या कहना

खिले खिले चेहरों से आज घर है
मेरा गुले गुलज़ार क्या कहना

खिले खिले चेहरों से आज घर है
मेरा गुले गुलज़ार क्या कहना..

Dil Ka koi Tukda Kabhi Song Lyrics In English 

Dil ka koi tukda kabhi 
dil se juda hota nahin
Apna koi jaisa bhi ho
apna hai vo dooja nahin

Yahi vo milan hai 
Jo sach much hai 
dil ka karaar kya kehna

Khile khile chehron se aaj 
Ghar hai mera gule gulzaar 
Kya kehna

Aye dil laaya hai bahaar 
Apno ka pyaar kya kehna
Milein hum chhalak utha 
Khushi ka khumar kya kehna..

Kuchh apne hi tak yoon nahi 
Ye hai sawaal sabke liye
Jeena hai to jag mein jiyo 
Banke misaal sabke liye

Dekho kaisa mehek raha 
Pyaar bhari baahon ka haar 
Kya kehna

Khile khile chehron se aaj 
Ghar hai mera gule gulzaar 
Kya kehna

Aye dil laaya hai bahaar 
Apno ka pyaar kya kehna
Milein hum chhalak utha 
Khushi ka khumar kya kehna..

Jo ho gaya so ho gaya 
Logon se tu darna nahin
Saathi tere hain aur bhi 
Duniya mein tu tanha nahin

Saamna karenge milke 
Chaahe dus ho chaahe hazaar 
Kya kehna

Khile khile chehron se aaj 
Ghar hai mera gule gulzaar 
Kya kehna

Aye dil laaya hai bahaar 
Apno ka pyaar kya kehna
Milein hum chhalak utha 
Khushi ka khumar kya kehna..

Khile khile chehron se aaj 
Ghar hai mera gule gulzaar 
Kya kehna

Khile khile chehron se aaj 
Ghar hai mera gule gulzaar 
Kya kehna..

close