दिल की कलम से || Dil Ki Kalam Se Lyrics in Hindi/English ||

Summary : Dil Ki Kalam Se Song Itihaas Movie से हैं, इस फिल्म में Ajay Devgan, Twinkle Khanna, Amrish Puri, Raj Babbar, Shakti Kapoor & Mohnish Bahl मुख्य भूमिका मे थे। इस गाने को गाया है Alka Yagnik & Hariharan ने, Music दिया है Dilip Sen-Sameer Sen और गाने के बोल लिखे है Sameer ने।

About : Dil Ki Kalam Se

  • Song Title : Dil Ki Kalam Se 
  • Movie : Itihaas (1997)
  • Singer : Alka Yagnik, Hariharan
  • Music : Dilip Sen-Sameer Sen
  • Lyricist : Sameer
  • Starcast : Ajay Devgan, Twinkle Khanna
  • Director : Raj Kanwar
  • Music Label : T-Series

Dil Ki Kalam Se Song Lyrics in Hindi

dil ki kalam se lyrics

दिल की कलम से हूं
चाहत का हम हूं
पहला एहसास लिखेंगे, लिखेंगे
हम अपनी मोहब्बत का
हम अपनी मोहब्बत का
नया इतिहास लिखेंगे
नया इतिहास लिखेंगे

दिल की कलम से हे 
चाहत का हम हे 
पहला एहसास लिखेंगे, लिखेंगे
हम अपनी मोहब्बत का
हम अपनी मोहब्बत का
नया इतिहास लिखेंगे
नया इतिहास लिखेंगे..

हो ख्वाबों में रहते हैं
पलकों में घर है हमारा
अम्बर पे चमकेगा
अपनी वफा का सितारा

इन आसमानों से ऊँची 
अपनी तो परवाज है
रोके कभी न रुकेगी
धड़कनों की आवाज है

हो हो हो हो 

इस प्रेम ग्रन्थ में हे हे
हम नाम अपना हे हे
धरती आकाश लिखेंगे, लिखेंगे

हम अपनी मोहब्बत का
हम अपनी मोहब्बत का
नया इतिहास लिखेंगे 
नया इतिहास लिखेंगे..

सीने पर सर रख के
सोने को जी चाहता है
ना जाने क्यों मिल के
रोने को जी चाहता है हाँ

हम दोनों अब आशिकी में
हद से गुजरने लगे हैं
साँसों की गलियों से होके
जाँ में उतरने लगे हैं

लब पे सनम के हे हे
महकी शबनम से हे हे
होंठों की प्यास लिखेंगे, लिखेंगे

हम अपनी मोहब्बत का
हम अपनी मोहब्बत का
नया इतिहास लिखेंगे 
नया इतिहास लिखेंगे 
नया इतिहास लिखेंगे..

Dil Ki Kalam Se Song Lyrics in English

Dil Ki Kalam Se Hoon
Chahat Ka Hoon
Pehla Ehsaas Likhenge, Likhenge
Hum Apni Mohabbat Ka 
Hum Apni Mohabbat Ka 
Naya Itihaas Likhenge
Naya Itihaas Likhenge

Dil Ki Kalam Se He
Chahat Ka He
Pehla Ehsaas Likhenge, Likhenge
Hum Apni Mohabbat Ka 
Hum Apni Mohabbat Ka 
Naya Itihaas Likhenge
Naya Itihaas Likhenge..

Ho Khwaabon Mein Rehte Hai
Palkon Mein Ghar Hai Hamara
Ambar Pe Chamkega
Apni Wafaa Ka Sitaara

In Aasmano Se Unchi
Apni To Parwaaj Hai
Roke Kabhi Na Rukegi
Dhadkano Ki Aawaz Hai

Ho Ho Ho Ho

Is Prem Granth Mein He He
Hum Naam Apna He He
Dharti Aakash Likhenge, Likhenge

Hum Apni Mohabbat Ka 
Hum Apni Mohabbat Ka 
Naya Itihaas Likhenge
Naya Itihaas Likhenge..

Seene Pe Sar Rakh Ke
Sone Ko Jee Chahta Hai
Na Jaane Kyon Mil Ke
Rone Ko Jee Chahta Hai Haan

Hum Dono Ab Aashiqui Mein
Hadd Se Gujarne Lage Hai
Saanson Ki Galiyon Se Hoke
Jaan Mein Utarne Lage Hai

Lab Pe Sanam Ke He He
Mahki Shabnam Se He He
Hothon Ki Pyas Likhenge, Likhenge

Hum Apni Mohabbat Ka 
Hum Apni Mohabbat Ka 
Naya Itihaas Likhenge
Naya Itihaas Likhenge
Naya Itihaas Likhenge

close