Sunday, June 26, 2022

Latest Posts

है कथा संग्राम की विश्व के कल्याण की || Hai Katha Sangram Ki Lyrics in Hindi English || Star Plus ||

Summary : महाभारत जिंदगी में बहुत कुछ सिखाने वाला महाकाव्य हैं। जिसकी रचना महर्षि वेद व्यास जी ने की थी परन्तु इसका जो लेखन हैं वो गणेश भगवान ने किया था क्योकि महर्षि वेद व्यास जी कथा का विचार तो कर चुके थे और उसका नाम महाभारत देना है ये भी सोच चुके थे परन्तु इस कथा को वो लिख नही पा रहे थे, इसलिये महर्षि वेद व्यास जी ने ब्रम्हा जी से मदद मांगी थी, तब ब्रम्हा जी ने उन्हे गणेश जी से विनति कर कथा लेखन की बात कही थी। इसके बाद महर्षि वेद व्यास जी ने गणेश जी की तपस्या की और उसके बाद गणेश जी एक शर्त पर महाभारत लिखने को तैयार हुये यदि महर्षि वेद व्यास जी पूरी महाभारत बिना रूके उन्हे सुना दे तो, तब महर्षि वेद व्यास जी मान तो गये परन्तु उन्होंने भी एक शर्त रखी कि जब तक आप मेरे हर कथन का अर्थ ना समझ जाये तब तक आप आगे कि कथा के बारे में नही पुछेगें और इस तरह महाभारत की रचना हुई।

About : Hai Katha Sangram Song

  • Song Title : Hai Katha Sangram Ki
  • Serial : Mahabharat
  • Source : Starplus
  • Singer : Chorus
  • Music Composer : Ajay Gogavale, Atul Gogavale
  • Director : Sidhharth Kumar Tiwari
  • Starcast : Shahir Sheikh, Pooja Sharman, Sourabh Raj Jain, Sameer Dharmadhikari, Vivana Singh, Sayantani Ghosh, Arav Choudhari, Punit Israar, Rio Kapadia, Ratan Rajput etc.

Hai Katha Sangram Ki Song Lyrics in Hindi

mahabharat title song lyrics hindi/english

है कथा संग्राम की
विश्व के कल्याण की

धर्म अधर्म, आदि अनंत
सत्य असत्य, क्लेश कलंक
स्वार्थ की कथा परमार्थ की

शक्ति है भक्ति है
जन्मो की मुक्ति है
जीवन का ये संपूर्ण सार है

युग युग से कण कण में
सृष्टि के दर्पण में
वेदो की कथा अपार है

कर्मो की गाथा है
देवो की भाषा है
सदियों के इतिहास का प्रमाण है

कृष्णा की महिमा है
गीता की महिमा है
ग्रंथो का ये ग्रंथ महान है
महाभारत
महाभारत
महाभारत
महाभारत
महाभारत..

ये कैसी दुविधा है
कैसी ये विपदा है
ये धर्म है बलिदान है

अपने ही अपनो के
सुख लेके दुःख देके
अधर्म है ये या विधान है

महाभारत
महाभारत
महाभारत
महाभारत
महाभारत..

Hai Katha Sangram Ki Song Lyrics in English

Hai Katha Sangram Ki 
Vishva Ke Kalyan Ki

Dharm Adarm, Aadi Anant
Satya Asatya, Klesh Kalank
Swaarth Ki Kath Parmarth Ki

Shakti Hai, Bhakti Hai
Janmo Ki Mukti Hai
Jeevan Ka Yeh Sampoorn Saar Hai

Yug-Yug Se Kan-Kan Mein
Srishti Ke Darpan Mein
Vedo Ki Katha Apaar Hai

Karmo Ki Gatha Hai
Devo Ki Bhasha Hai
Sadiyon Ke Itihaas Ka Pramaan Hai

Krishna Ki Mahima Hai
Geeta Ki Mahima Hai
Grantho Ka Yeh Granth Mahan Hai
Mahabharat
Mahabharat
Mahabharat
Mahabharat
Mahabharat..

Ye Kaisi Duvidha Hai
Kaisi Yeh Vipdaa Hai
Ye Dharm Hai Balidaan Hai

Apne Hi Apno Ke
Sukh Leke, Dukh Deke
Adharm Hai Ye Ya Vidhan Hai

Mahabharat
Mahabharat
Mahabharat
Mahabharat
Mahabharat..

Latest Posts

Don't Miss

close