खुद को क्या समझती हैं || Khud Ko Kya Samajhti Hai Lyrics in Hindi/English ||

Summary : Khud Ko Kya Samajhti Hai Song Khiladi Movie से हैं, इस फिल्म में Akshay Kumar, Ayesha Jhulka, Deepak Tijori, Sabiya, Johny Lever, Prem Chopra & Shakti Kapoor मुख्य भूमिका मे थे। इस गाने को गाया है Abhijeet, Udit Narayan, Kavita Krishnamurthy & Sapna Mukherjee ने, Music दिया है Jatin Lalit ने और गाने के बोल लिखे हैं Shyam Raj ने। 

About : Khud Ko Kya Samajhti Hai Song

  • Song Title : Khud Ko Kya Samajhti Hai
  • Movie : Khiladi (1992)
  • Singer : Abhijeet, Udit Narayan, Kavita Krishnamurthy, Sapna Mukherjee
  • Music : Jatin Lalit
  • Lyricist : Shyam Raj
  • Starcast : Akshay Kumar, Ayesha Jhulka, Deepak Tijori
  • Director : Abbas Mustan
  • Music Label : Venus

Khud Ko Kya Samajhti Hai Song Lyrics in Hindi

khud ko kya samajhti hai lyrics hindi/english

जहाँ वो जायेगी, वहीं हम जायेंगे 
जहाँ वो जायेगी, वहीं हम जायेंगे 

खुद को क्या समझती हैं
कितना अकड़ती हैं
कॉलेज में नयी नयी 
आई एक लड़की हैं
हो यारों ये हमें लगती हैं सिरफिरी
आओ चखा दें मजा

खुद को क्या समझती हैं
कितना अकड़ती हैं
कॉलेज में नयी नयी
आई एक लड़की हैं..

तौबा तौबा ये अदा
दीवानी है क्या पता
पूछो ये किस बात पे 
इतना इतराती है

जाने किस की भूल है
ये गोभी का फूल है
बिल्ली जैसे लगती है 
मेकअप जब करती है

गालों पे जो लाली है
होठों पे गाली है
ये जो नखरे वाली है
लड़की है या है बला

खुद को क्या समझता हैं
कितना अकड़ता हैं
कॉलेज का नया नया
मजनू ये लगता हैं
हमसे हो गया अब इसका सामना
आओ चखा दें मजा

खुद को क्या समझता हैं
कितना अकड़ता हैं
कॉलेज का नया नया
मजनू ये लगता हैं..

हमको देता है गुलाब 
नीयत इसकी है खराब
सावन के अँधे को तो 
हरियाली दिखती है

क्या इसको ये होश है 
ये धरती पर बोझ है
मर्द है ये सिर्फ नाम का 
आखिर किस काम का

चेहरा अब क्यों लाल है
बदली क्यों चाल है
अरे इतना अब क्यों बेहाल है
हम भी तो देखें जरा

खुद को क्या समझता हैं
कितना अकड़ता हैं
कॉलेज का नया नया
मजनू ये लगता हैं

हमसे आँखें चार करो 
छोड़ो गुस्सा प्यार करो
यारों के हम यार हैं 
लड़ना बेकार है

उलझन में ये पड़ गये 
शायद हमसे डर गये
देंगे भर के प्यार के देखो ये हार के
प्यार कि ये रीत है हार भी जीत है

सबसे बढ़ कर प्रीत है
लगजा गले दिलरुबा..

Khud Ko Kya Samajhti Hai Song Lyrics in English

Jahan Woh Jayengi
Wahin Hum Jayenge
Jahan Woh Jayengi
Wahin Hum Jayenge

Khud Ko Kya Samajhti Hai 
Kitna Akadti Hai
College Mein Nayi Nayi 
Aayi Ek Ladaki Hai
Ho Yaaron Yeh Humein Lagti Hai Sirfiri
Aao Chakha De Mazaa

Khud Ko Kya Samajhti Hai 
Kitna Akadti Hai
College Mein Nayi Nayi 
Aayi Ek Ladaki Hai..

Tauba Tauba Yeh Adaa
Deewaani Hain Kya Pata
Pucho Yeh Kis Bat Pe 
Itana Itarati Hai

Jaane Kis Ki Bhool Hai
Yeh Gobhi Ka Phool Hai
Billi Jaise Lagti Hai 
Makeup Jab Karti Hai

Gaalon Pe Jo Lali Hai
Hothon Pe Gali Hai
Ye Jo Nakhare Wali Hai
Ladaki Hai Ya Hai Bala

Khud Ko Kya Samajhta Hai 
Kitna Akadata Hai
College Ka Naya Naya 
Majnu Yeh Lagta Hai
Humse Ho Gaya Ab Iska Samna
Aao Chakha De Mazaa

Khud Ko Kya Samajhta Hai 
Kitna Akadata Hai
College Ka Naya Naya 
Majnu Yeh Lagta Hai..

Humko Deta Hai Gulaab 
Niyat Iski Hai Kharab
Saawan Ke Andhe Ko 
To Hariyali Dikhti Hai

Kya Isko Yeh Hosh Hai 
Yeh Dharti Par Bojh Hai
Mard Hai Yeh Sirf Naam Ka 
Aakhir Kis Kaam Ka

Chehra Ab Kyon Laal Hai
Badli Kyon Chaal Hai
Are Itna Ab Kyon Behaal Hai
Hum Bhi To Dekhen Zara

Khud Ko Kya Samajhta Hai 
Kitna Akadata Hai
College Ka Naya Naya 
Majnu Yeh Lagta Hai

Humse Aankhen Chaar Karo 
Chodo Gussa Pyar Karo
Yaaron Ke Hum Yaar Hain 
Ladna Bekaar Hai

Uljhan Mein Yeh Pad Gaye 
Shayad Hum Se Dar Gaye
Denge Bhar Ke Pyar Ke Dekho Yeh Haar Ke
Pyaar Ki Ye Reet Hai Haar Bhi Jeet Hai

Sabse Badh Kar Preet Hai
Lag Jaa Gale Dilroobaa..

close