यहाँ के हम सिकंदर || Yahan Ke Hum Sikandar Lyrics in Hindi/English ||

Summary : Yahan Ke Hum Sikandar Song Jo Jeeta Wohi Sikandar Movie से हैं, इस फिल्म में Amir Khan, Ayesha Jhulka, Pooja Bedi, Mamik Singh, Deepak Tijori & Kulbhushan Kharbanda मुख्य भूमिका मे थे। इस गाने को गाया है Udit Narayan & Sadhana Sargam ने, Music दिया है Jatin-Lalit ने और गाने के बोल लिखे हैं Majrooh Sultanpuri ने। 

About : Yahan Ke Hum Sikandar Song

  • Song Title : Yahan Ke Hum Sikandar
  • Album : Jo Jeeta Wohi Sikhandar (1992)
  • Singer : Udit Narayan, Sadhana Sargam
  • Music : Jatin-Lalit
  • Lyricist : Majrooh Sultanpuri
  • Starcast : Amir Khan, Ayesha Jhulka 
  • Director : Mansoor Khan
  • Label : Saregama

Yahan Ke Hum Sikandar Song  Lyrics in Hindi

yahan ke hum sikandar lyrics

वो सिकंदर ही दोस्तों कहलाता है
हारी बाजी को जीतना जिसे आता है
निकलेंगे मैदान में जिस दिन हम झूम के
धरती डोलेगी ये कदम चूम के
हे निकलेंगे मैदान में जिस दिन हम झूम के
धरती डोलेगी ये कदम चूम के
वो सिकंदर ही दोस्तों कहलाता है

जो सब करते हैं यारों, वो क्यों हम तुम करे
यूं ही कसरत करते करते काहे को हम मरे
घरवालों से टीचर से, भला हम क्यों डरे

यहाँ के हम सिकंदर, चाहें तो रख ले 
सबको अपनी जेब के अन्दर
अरे हमसे बचके रहना मेरे यार
नहीं समझे है वो हमें, तो क्या जाता है
हारी बाजी को जीतना हमें आता है..

ये गलियाँ अपनी, ये रस्ते अपने
कौन आएगा अपने आगे
राहों में हमसे टकराएगा जो
हट जाएगा वो घबरा के

यहाँ के हम सिकंदर, चाहें तो रख ले 
सबको अपनी जेब के अन्दर
अरे हमसे पंगा मत लेना मेरी जान
नहीं समझे है वो हमें, तो क्या जाता है
हारी बाजी को जीतना हमें आता है..

ये भोली भाली मतवाली परियाँ
जो हैं अब दौलत पे कुर्बान
जब कीमत दिल की ये समझेंगी तो
हमपे छिड़केंगी अपनी जान

यहाँ के हम सिकंदर, चाहे तो रख ले 
सबको अपनी जेब के अन्दर
अरे हम भी है शहजादे गुलफ़ाम
नहीं समझे है वो हमें, तो क्या जाता है
हारी बाजी को जीतना हमें आता है

निकलेंगे मैदान में जिस दिन हम झूम के
धरती डोलेगी ये कदम चूम के
हे निकलेंगे मैदान में जिस दिन हम झूम के
धरती डोलेगी ये कदम चूम के
नहीं समझे है वो हमें, तो क्या जाता है..

Yahan Ke Hum Sikandar Song Lyrics in English

Woh Sikandar Hi Dosto Kehlata Hai
Haari Baazi Ko Jitna Jise Aata Hai
Niklenge Maidan Mein Jis Din Hum Jhoom Ke
Dharti Dolegi Yeh Kadam Choom Ke
Hey Niklenge Maidan Mein Jis Din Hum Jhoom Ke
Dharti Dolegi Yeh Kadam Choom Ke
Woh Sikandar Hi Dosto Kehlata Hai

Jo Sab Karte Hain Yaaron 
Woh Kyon Hum Tum Kare
Yoon Hi Kasrat Karte Karte 
Kaahe Ko Hum Mare
Gharwalon Se Teacher Se
Bhala Hum Kyon Dare

Yahan Ke Hum Sikandar Chahe To Rakh Le
Sabko Apni Jeb Ke Andar
Are Humse Bachke Rahna Mere Yaar
Nahin Samjhe Hai Woh Hume To Kya Jaata Hai
Haari Baazi Ko Jitna Humein Aata Hai..

Yeh Galiyaan Apni, Yeh Raste Apne
Kaun Aayega Apne Aage
Raahon Mein Humse Takrayega Jo
Hat Jaayega Woh Ghabra Ke

Yahan Ke Hum Sikandar Chahe To Rakh Le
Sabko Apni Jeb Ke Andar
Are Humse Panga Mat Lena Meri Jaan
Nahin Samjhe Hai Woh Hume To Kya Jaata Hai
Haari Baazi Ko Jitna Humein Aata Hai..

Yeh Bholi Bhali Matwali Pariyaan
Jo Hai Ab Daulat Pe Kurbaan
Jab Keemat Dil Ki Yeh Samjhengi To
Humpe Chhidkengi Apni Jaan

Yahan Ke Hum Sikandar Chahe To Rakh Le
Sabko Apni Jeb Ke Andar
Are Hum Bhi Hai Shehzade Gulfaam
Nahin Samjhe Hai Woh Hume To Kya Jaata Hai
Haari Baazi Ko Jitna Humein Aata Hai

Niklenge Maidan Mein Jis Din Hum Jhoom Ke
Dharti Dolegi Yeh Kadam Choom Ke
Hey Niklenge Maidan Mein Jis Din Hum Jhoom Ke
Dharti Dolegi Yeh Kadam Choom Ke
Nahin Samjhe Hai Woh Hume To Kya Jaata Hai..

close