यूँही तुम मुझ से बात करती हो || Yuhin Tum Mujhse Bat Karti Ho Hindi/ English ||

Summary : Yuhin Tum Mujhse Bat Karti Ho यह गाना 1970 में प्रदर्शित Hit फिल्म Sachha Jhutha से हैं, इस फिल्म में Rajesh Khanna, Mumtaz मुख्य भूमिका मे थे। इस गाने को गाया है Mo. Rafi ने, music दिया हैं Kalyan Ji Anand.

About : Yuhin Tum Mujhse Bat Karti Ho Song

  • Song Title : Yuhin Tum Mujhse Bat Karti Ho
  • Movie : Sachha Jhutha (1970)
  • Singer : Mohammad Rafi
  • Music Director : Kalyan Ji Anand Ji
  • Starcast : Rajesh Khanna, Mumtaz
  • Director : Manmohan Desai

यूँही तुम मुझ से बात करती हो,
यूँही तुम मुझ से बात करती हो,
यूँही तुम मुझ से बात करती हो,
या कोई प्यार का इरादा है…

अदायें दिल की जानता ही नहीं,
अदायें दिल की जानता ही नहीं,
मेरा हमदम भी कितना सादा है
यूँही तुम मुझ से बाते करती हो…

रोज आती हो तुम खयालों में,
रोज आती हो तुम खयालों में,
जिंदगी में भी मेंरी आ जाओ
बीत जाये ना ये सवालों में,
इस जवानी पे कुछ तरस खाओ
हाल-ए -दिल समझो सनम,
हाल-ए -दिल समझो सनम,
कहेंगे मुंह से ना हम
हमारी भी कोई मर्यादा है
अदायें दिल की जानता ही नहीं,
मेरा हमदम भी कितना सादा है
यूँही तुम मुझ से बाते करती हो….

भोलेपन में है वफा की खुशबू,
भोलेपन में है वफा की खुशबू,
तुझ पे सब कुछ ना क्यों लूटाऊ मैं
मेरा बेताब दिल ये कहता है,
तेरे साये से लिपट जाऊं मैं
मुझ से मेल तेरा,
मुझ से मेल तेरा,
ना हो एक खेल तेरा
ये करम मुझ पे कुछ ज्यादा है
यूँही तुम मुझ से बात करती हो,
या कोई प्यार का इरादा है
अदायें दिल की जानता ही नहीं…

बन गयी हो मेरी सदा के लिए,
बन गयी हो मेरी सदा के लिए,
या मुझे यूँही तुम बनाती हो
कही बाहों में ना भर लूँ तुमको,
क्यों मेरे हौसले बढाती हो
हौसले और करो,
हौसले और करो,
पास आते ना डरो
दिल ना तोड़ेंगे अपना वादा है
यूँही तुम मुझ से बात करती हो,
या कोई प्यार का इरादा है
अदायें दिल की जानता ही नहीं
मेरा हुमदुम भी कितना सदा है
यूँही तुम मुझ से बात करती हो……

Yuhi Tum Mujhse Bat Karti Ho Lyrics in English –

Yunhi tum mujhse baat karti ho
Yunhi tum mujhse baat karti ho
Yunhi tum mujhse baat karti ho
Ya koyi pyar ka iraada hai
Adaayein dil ki jaanta hi nahi
Adaayein dil ki jaanta hi nahi
Mera humdum bhi kitna saada hai
Yunhi tum mujhse baat karti ho….

Roz aati ho tum khayalon mein
Roz aati ho tum khayalon mein
Zindagi mein bhi meri aa jao
Beet jaayein na yeh sawalon mein
Iss jawani pe kuchh taras khao

Haal-e-dil samjho sanam
Haal-e-dil samjho sanam
Kahenge munh se na hum
Humari bhi koyi maryada hai
Adaayein dil ki jaanta hi nahi
Mera humdum bhi kitna saada hai
Yunhi tum mujhse baat karti ho…..

Bholepan mein hai wafaa ki khushbu
Bholepan mein hai wafaa ki khushbu
Tujh pe sab kuchh na kyun lutaun main
Mera betaab dil yeh kehta hai
Tere saye se lipat jaaun main
Mujhse yeh mel tera
Mujhse yeh mel tera
Na ho ek khel tera
Yeh karam mujhpe kuchh zyada hai

Yunhi tum mujhse baat karti ho
Ya koyi pyar ka iraada hai
Adaayein dil ki jaanta hi nahi….

Ban gayi ho meri sada ke liye
Ban gayi ho meri sada ke liye
Ya mujhe yunhi tum banati ho
Kahin baahon mein na bhar loon tumko
Kyun mere hausle badhati ho
Hausle aur karo, hausle aur karo
Paas aake na daro
Dil na todenge apna vaada hai

Yunhi tum mujhse baat karti ho
Ya koyi pyar ka iraada hai
Adaayein dil ki jaanta hi nahi
Mera humdum bhi kitna saada hai
Yunhi tum mujhse baat karti ho…..

close